Tuesday, May 17, 2011

मेरा मन देखे एक सपना


बहती रूकती इस जिन्दगी में कभी हरियाली होती है तो कभी पतझड़ आता है लेकिन जिन्दगी कभी रूकती नहीं. बहती जा रही इस जिन्दगी में कभी प्यार के दीप जलते है तो कभी अँधेरा छा जाता है शायद ऐसे ही अर्थ पता है जीवन हमारे अन्दर कभी- कभी एक तड़प का एहसास होता है कि कोई ऐसा हो जो बिना कहे हमारी कही को समझ ले.इसी खोज में पूरा जीवन बीत जाता है.किसी ने मुझ  से कहा था  जिन्दगी के  सारे माने  हमारे भीतर है जो जितना इसे पकड़ लेता है उतना ही जीवन का अर्थ समझ जाता है.नहीं तो हमेशा वो एक छटपटाहट  के साथ जीता रहता है.















मेरा मन देखे एक सपना 
दुनिया की भीड़ में कोई हो अपना 

मेरी धडकनों में सांसे हो उसकी 
मेरे सपने हो आँखे हो उसकी 

मेरी खामोशियों    पर बाते हो उसकी 
एहसासों पर प्यार की सौगातें  हो उसकी 

मेरी थिरकन हो पर ताल हो उसकी 
मेरी राग हो पर धुन हो उसकी 

मेरा मन बस देखे यही सपना 
दुनिया की इस भीड़ में कोई हो अपना 


16 comments:

  1. डॉ किरण जी सुन्दर भाव
    किसी प्रिय की चाहत और उसके प्रति ये बलिहारी भाव प्रेम को उच्च शिखर पर पहुंचा दिए बधाई हो
    कृपया निम्न पर ध्यान दें -

    मेरी खामोशियाँ पर बाते हो उसकी

    शुक्ल भ्रमर ५

    ReplyDelete
  2. मेरी थिरकन हो पर ताल हो उसकी
    मेरी राग हो पर धुन हो उसकी
    वाह
    विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

    ReplyDelete
  3. मेरी धडकनों में सांसे हो उसकी
    मेरे सपने हो आँखे हो उसकी

    सच.. बहुत सुंदर रचना है, बधाई

    ReplyDelete
  4. बेहतरीन कविता लिखी है आपने पढ़ने के बाद कहने के लिए कुछ नहीं रहता|

    ReplyDelete
  5. मेरी धडकनों में सांसे हो उसकी
    मेरे सपने हो आँखे हो उसकी

    मेरी खामोशियों पर बाते हो उसकी
    एहसासों पर प्यार की सौगातें हो उसकी.

    ज़ज्बातों को समेट कर कविता में उड़ेल दिया है. सुंदर अभिव्यक्ति. यूँही लिखती रहें.

    ReplyDelete
  6. सुँदर प्रेम पगे भावों का सहज सुँदर और रसात्मक अभिव्यक्ति . मज़ा आ गया पढ़कर . आभार इस सुँदर रचना के लिए .

    ReplyDelete
  7. bahut pyara sa sapna...waise aapka profile padh kar lagta hai...ye sapna pura ho chuka...!!
    hai na doctor..!!
    God bless...best wishes...

    ReplyDelete
  8. thanks mere jivan sathi dr pawan hai jinse mera jivan roshan hai ha ha

    ReplyDelete
  9. मेरी खामोशियों पर बाते हो उसकी
    एहसासों पर प्यार की सौगातें हो उसकी.
    बहुत सुंदर अभिव्यक्ति आभार

    ReplyDelete
  10. मेरा मन बस देखे यही सपना
    दुनिया की इस भीड़ में कोई हो अपना

    quite natural.

    ReplyDelete
  11. Sundar Abhivyakti, Sarthak Chintan.


    Swagat hai Chhattisgarh Bloggers Choupal me
    http://hamarchhattisgarh.blogspot.com

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर भावों को संजोया है आज पहली बार आपके ब्लोग पर आई हूँ ……………अच्छा लगा।

    ReplyDelete
  13. सुन्दर प्रस्तुति.

    ReplyDelete
  14. वाकई शानदार अभिव्यक्ति....साधूवाद आपको....
    कभी मेरे ब्लॉग पर भी पधारें...
    www.shoaib999.blogspot.in

    ReplyDelete